आजकल
0 penit-clap
1

ग़म में थोड़ा ख़ुशी सा हूं, मै खुद से ही अजनबी सा हूं।

penit.ink 1 0 penit-clap
Please login to comment.
0 Comment

You May Also like...