7 penit-clap
2
तुम

मिलने को तो दुनिया में कई चेहरे मिले,

पर तुम सी मोहब्बत तो हम खुद से भी नहीं कर पाए।

penit.ink 2 7 penit-clap
Please login to comment.
0 Comment

You May Also like...