मोहब्बत
0 penit-clap
5

वक़्त रहते हम करते भी तो क्या

ये मोहब्बत बिछड़ने से पहले समझ ही नहीं आयी।

penit.ink 5 0 penit-clap
Please login to comment.
1 Comment

  • ye sach hai..

You May Also like...