वाकिफ

जिस चेहरे की उदासी नापसंद थी मुझे उसे रुलाता कैसे,

मै वाकिफ था उसके फरेब से उसे बताता कैसे।

penit.ink 7
Please login to comment.
8 Comments

You May Also like...