Noor

कला वही अनमोल है, जिस पर कलाकारों की इनायत है!!!इसलिए सफर में साथ दीजियेगा| :) https://www.instagram.com/roohaani_qalam/



Don't Miss

मुद्दत से मुलाक़ात न हुई तुझसे,इस रात भी कोई बात न हुई तुझसे |मैंने तो अज़ल तक की इबादत तेरी,कलमे की भी शुरुआत न हुई तुझसे ||

वो चार रोज़ थे जब रोज़ मिला करते थे,कई रोज़ों से मुलाकात अधूरी सी है||कई बातें थी जो तुझसे कही थी रुख़सत पर,मगर जो दिल में रही बात अधूरी सी है||मैंने हर...

मैं कितने ही घरों को रोशन करती हूँ,वो मुझे पल पल बे-झिझक जलाते हैं|मैं उनके अंधेरों में भी पिघलती हूँ,वो जाने क्यूँ मुझे मोम बनाये जाते हैं|मैं बेवजह...

एक मुक़्क़मल ग़ज़ल लिखने की कोशिश की है| अगर पसंद आए तो बताएगा| एक लड़की की दास्तान को लिखने की कोशिश है, जो इस समाज की वजह से खुद से नफरत करने लगी है|