Poems
Don't Miss

Khwabon ke parinde kuch aise udeKhwabon ke parinede kuch aise udeMan kiya jaise aasman ko chu leMan kiya jaise inn waadiyon mein kho jayeinMan kiya ja...

mere alfaz kamzor hai ya tujhe mehsus hona band ho gyatun bhool gya wo din jab tere call ke intzar me phon haath pr bandh kr tha so gya

जो मोल देकर मैं खुद से शाब्दों को खरीदता हूँदुनिया से तो उसका सूद भी नही मुड़ताइनको क्या पता के अंदर से टूटे बगेर तो शायर से एक वाक्य भी नही जुड़ता

A deep message

Deep message

Mujhe tujhe se jyaada, Teri khushbu yaad aati hai.Waqt bewqt beshak, mera dhyaan to bhatkati hai.Ek alag sa nsha hai usme lekin, meri sari tanhaeeyan...

।।जो अगर तू है,तो परी जैसी होमेरे हर खूबसूरत ख्वाब के किरदार जैसी हो, मेरी हर,भूलकर हुई भूल जैसी हो,जो तू चले तो, घुंघरू का संगीत होजो तू रूठे तो, दुन...

||हर शाम यादों का मेला लगता है,बूढ़ी आंखों में इंतजार दिखता है,बंजर जमीन पर आशिया का ख्वाब बनता है,खतों में बेजान लफ्जों का शोर अब भी सुनाई देता है,अब...

नशे और भी है ज़िन्दगी में, तेरे इश्क में ही क्यो मरूं।जाम जब तक सिरहाने हो, तुझे क्यो याद करू।कातिब हूँ, मैकश नहीं|झूठा लिबास ओढ़े अंजुमन में सब है।इश...

Tun kabhi galat ya sahi nhi tha aadi,Wo to dusra tha jo tujhe badal kr galat saabit kr gya

।।बाज़ दफा अल्फाज़ खो दिए,घाटे में सौदा कर, बाज़ार में खो दिए,शहर में हर शख्स मुंतज़िर में,महफिलो ने शायर खो दिए हैं| हैरत देखो जिससे हमसफ़र समझे बैठे थ...

नए शहर में अपना ढूंढने में वक़त लगता है।जुदाई का आखिरी खत लिखने में वक़त तो लगता है।बिखरा है जो भी समेटने में वक़त लगता है।यकीन मानो मेरा माज़ी नाउम्म...

||चलो,चांद के पार चलोकुछ सपने हैं दरमियां, उनहीं की खातिर चलोबोझ में दबी सासों को पंख देने चलो,जिम्मेदारियों को कोने में रख,आज नादानियां करने चलो,दिल...

Aadi ke alfaz kahan dard byaan kr pate hn ye to bas ek zariya hai tuzh se shikayat krne ka

When I hope howthe wonders are born.Then I searched to knowHow they become wonders.Then I moved over and over,the world to know how their existence.I...

Thoda pagal sa hun main,Shaabdon ka zhaar pikar mrne chal diyaKrur zmaane ki tlwaroon ke aage kalam lekar ladne chal diya

Does it really matter?

Day and nightare light and dark,but never see ;each otherLike two eyes.

baatein to aaj bhi tumse khood karta hu,phir kyu khamoshi sa aalam chhayaa hai,shayad tum paas nahi yaa yeh mausam nahi yaa phir koi badkismati ka saa...

the situation changes, people don't